Delhi Urban Art Commission (DUAC) | दिल्ली शहरी कला आयोग के बारे में सब कुछ

Delhi Urban Art Commission दिल्ली शहरी कला आयोग [DUAC], duac.org.in is a official webiste of Delhi Urban Art Commission, duac.org | duac.org.in

Delhi Urban Art Commission: दिल्ली नगर कला आयोग (डीयूएसी) एक संविधिक निकाय है जिसकी स्थापना दिल्ली नगर कला आयोग अधिनियम, 1973 के अंतर्गत दिल्ली में शहरी तथा पर्यावरण अभिकल्प की सौंदर्यपरक विशिष्टता की रक्षा, विकास एवं रखरखाव करने के उद्देश्य से 1 मई, 1974 की केंद्रीय सरकार तथा तीन स्थानीय निकायों नामतः दिल्ली विकास प्राधिकरण, दिल्ली नगर निगम तथा नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् के परामर्शी निकाय के रूप में हुई। आयोग अध्यक्ष एवं अधिकतम चार अन्य सदस्यों से निर्मित है। सचिव, आयोग के सचिवालय के प्रमुख हैं|

Delhi Urban Art Commission overview:

अधिसूचनादिल्ली शहरी कला आयोग (Delhi Urban Art Commission) भर्ती 2019 लोअर डिवीजन क्लर्क पद के लिए
जमा करने की अंतिम तिथिफरवरी 14, 2020
शहरनई दिल्ली
राज्यदिल्ली
देशभारत
शिक्षा योग्यताउच्च माध्यमिक
कार्यात्मकअन्य कार्यात्मक क्षेत्र

Delhi Urban Art Commission full details:

आयोग की द्वारा प्रस्तावों को दिल्ली नगर कला आयोग के अधिनियम की धारा 11 के अंतर्गत विचार किया जाना अपेक्षित है। इनमें जनपद, सामुदायिक केंद्र, रिहायशी परिसर, लुटियन बंगला जोन क्षेत्र, कनाट प्लेस परिसर, पुरानी दिल्ली क्षेत्र, स्मारक स्थलों आदि का संरक्षण शामिल है। आयोग अण्डरपास, ग्रेड सेपरेटरों, विधि-सज्जा सामग्री आदि पर भी विचार करता है।

जब स्थानीय निकाय निगम उपनियमों का अनुपालन सुनिश्चित करता है तो आयोग परियोजना के परिवेश के संदर्भ में उसकी सौन्दर्यपरक एवं व्यावहारिकता की दृष्टि से विचार करते हैं।दिल्ली नगर कला आयोग के गठन के बाद के वर्षों में दिल्ली के क्षेत्रफल में काफी बढ़ोतरी हुई है और मकानों का सघनता के आधार पर निर्माण हुआ है, इससे मूल अधिदेश में सुपुर्द कार्यों की सार्थकता और भी अधिक बढ़ गई है।

अब परिवेश और विरासत अति आवश्यक सरोकार बन गये हैं, तथा जहां निर्णयकारी निकायों की संख्या एक से अधिक हो, वहां समग्र शहर को एक सूत्र में बांधे रखने में पहले की तुलना में अनेक कठिनाइयां पैदा हो रही हैं ऐसी स्थिति में शहर के घटक तत्वों के भविष्य को लेकर एक विजन (संकल्पना) की महती आवश्यकता है।आयोग का प्रमुख सरोकार, अगर 1970 के दशक में अनियंत्रित गगनचुम्बी निर्माणों के मुद्दों के बारे में था|

आयोग के मुख्य क्रियाकलाप:

आयोग के मुख्य कार्य असंख्य समस्या/सरोकारों में विस्तीर्ण रहे हैं। आयोग ने नए मेट्रो मार्गों तथा उनमें निहित पर्यावरण-परिवेश तथा ऐतिहासिक प्रतिवेश के संदर्भ में जांच परख की। शाहजहांनाबाद के कायाकल्प के उपायों की पहचान के लिए परस्परव्यापी कार्यदायरे वाली एजेंसियों से विचार-विमर्श किया।

संरचनात्मक ढांचा सुलभ कराने के लिए आयोग द्वारा शुरू की गयी अग्रगामी परियोजनाओं के अंतर्गत खिड़की गाँव के प्रस्ताव तथा नई दिल्ली नगर पालिका परिषद की जोनल विकास योजना पर कार्यवाही के प्रस्ताव शामिल हैं। परिवहन-कॉरीडोरों (समर्पित मागों) के सुधार और उनके समाधान पर काफी समय लगाकर सोच विचार किया गया है। दिल्ली के मास्टर प्लान पर चर्चा के लिये आयोग ने एक सेमिनार का आयोजन किया।

Delhi Urban Art Commission

शैक्षणिक योग्यता :
उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी जरूरी है।

आयु सीमा:

उम्मीदवार के लिए अधिकतम आयु 56 वर्ष निर्धारित की है|

आवेदन कैसे करें-
इच्छुक व्यक्ति 09 मई 2020 को या उससे पहले दिल्ली अर्बन आर्ट कमीशन (DUAC) भर्ती 2020 के लिए आवेदन कर सकते हैं।

डीयूएसी के कार्य (Work of Delhi Urban Art Commission)

डीयूएसी वेबसाइट के अनुसार, निकाय का गठन ‘दिल्ली के भीतर शहरी और पर्यावरणीय डिजाइन की सौंदर्य गुणवत्ता के संरक्षण, विकास और रखरखाव के मामले में केंद्र सरकार को सलाह देने और किसी भी स्थानीय निकाय को सलाह और मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए किया गया था। भवन संचालन या इंजीनियरिंग संचालन या किसी भी विकास प्रस्ताव की कोई परियोजना, जो प्रभावित करती है या संभावित है आकाश-रेखा या परिवेश की सौंदर्य गुणवत्ता या उसमें प्रदान की गई किसी भी सार्वजनिक सुविधा को प्रभावित करने के लिए। यह भी देखें: राष्ट्रपति भवन के बारे में सभी *निम्नलिखित मामलों के संबंध में प्रस्तावों की जांच, अनुमोदन, अस्वीकार या संशोधन करने के लिए:

  • जिला या नागरिक केंद्रों का विकास, सरकारी प्रशासनिक भवनों और आवासीय परिसरों, सार्वजनिक पार्कों और उद्यानों के लिए निर्धारित क्षेत्र।
delhi-urban-art-commission
  • मूर्तियों, मॉडलों और फव्वारों के चयन सहित केंद्रों, क्षेत्रों, पार्कों और उद्यानों में नए भवनों की योजनाएं, स्थापत्य और दृश्य रूप।
  • फव्वारों या मूर्तियों के स्थान या स्थापना सहित स्मारकों, सार्वजनिक पार्कों और उद्यानों का संरक्षण और सौंदर्यीकरण।
  • कनॉट प्लेस कॉम्प्लेक्स, सेंट्रल विस्टा, लुटियंस बंगला क्षेत्र आदि सहित नई दिल्ली नगर परिषद (एनडीएमसी) के अधिकार क्षेत्र के तहत क्षेत्रों का पुनर्विकास।
  • जामा मस्जिद, हुमायूं का मकबरा, लाल किला, पुराना किला, कुतुब, तुगलकाबाद और ऐतिहासिक महत्व के अन्य स्थानों के आसपास के क्षेत्रों का पुनर्विकास।
  • अंडर पास, ओवर पास, स्ट्रीट फर्नीचर और होर्डिंग्स।
    बिजली घरों, पानी के टावरों, टेलीविजन और संचार टावरों और अन्य समानों के लिए स्थान और योजनाएं संरचनाएं।

Delhi Urban Art Commission – FAQs

Q…1 डीयूएसी [Delhi Urban Art Commission] क्या है?

Ans …दिल्ली शहरी कला आयोग (DUAC) की स्थापना 1974 में राष्ट्रीय राजधानी के सौंदर्य सौंदर्य को बढ़ाने और बनाए रखने के लिए की गई थी।

Q…2 डीयूएसी के कर्तव्य क्या है

Ans…DUAC एक नीति सलाहकार, एक नियामक निकाय और एक थिंक-टैंक की भूमिका निभाता है।…पूछे जाने वाले प्रश्न

Leave a Comment